कोरोना संक्रमितों के लिए सरकार ने बनाया ट्रेन में आइसोलेशन वार्ड, नाम रखा जीवनरेखा एक्सप्रेस

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामले को देखते हुए भारत सरकार ने ट्रेन में आइसोलेशन वार्ड बनाया और उस ट्रेन का नाम रखा गया है जीवनरेखा एक्सप्रेस (Jeevanrekha Express). रेलवे ने इसके लिए दिल्ली डिपो में कोचों को तैयार करने का ट्रायल किया था, जिसके सफल होने के बाद अब अन्य एलएचबी कोचों को भी आइसोलेशन वार्ड में तब्दील किया जा रहा है.

जीवनरेखा एक्सप्रेस में डॉक्टर्स के लिए केबिन बनाने के साथ ही अन्य कोचों में पेशेंट रूम बनाए गए हैं, जिसे रेलवे ने जीवन रेखा एक्सप्रेस नाम दिया है.

ये ट्रेनें देश के कोने-कोने में कोरोना मरीजों को उपचार देगी. इसमें रेलवे मेडिकल विभाग की टीम के अलावा रेलकर्मियों की टीम रहेगी.

corona1

जीवन रेखा एक्सप्रेस में रेलवे मेडिकल विभाग की टीम के अलावा रेलकर्मियों की टीम रहेगी. मरीजों का उपचार करने के लिए रेलकर्मियों को डब्ल्यूएचओ के बनाए वीडियो से ट्रेनिंग देकर तैयार किया जा रहा है.

बताया जा रहा है की जीवनरेखा एक्सप्रेस का ट्रायल पूरा हो चुका है. भारत में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है जिसके कारण सरकार को यह कदम उठाना पड़ा.

Source: India News18